दादा साहेब फाल्के पुरस्कार 2020 | Dada Saheb Falke Award 2020

67वां दादा साहेब फाल्के पुरस्कार 2020 :- दादा साहेब फाल्के पुरस्कार, जो कि भारतीय सिनेमा के क्षेत्र का सर्वोच्च सम्मान माना जाता है। आज हम इसी सम्मान के बारे में बात करेंगे, और साथ ही साथ आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं में संभावित प्रश्नों को भी ध्यान में रखते चलेंगे।


दोस्तों जैसा कि हम सभी जानते हैं कि दादा साहब फाल्के पुरस्कार भारतीय सिनेमा जगत का सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार माना जाता है, और यह प्रत्येक वर्ष किसी ना किसी व्यक्ति को जरूर दिया जाता है और यह पुरस्कार प्रत्येक वर्ष साल 1969 से लगातार दिए जा रहे हैं।

दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2020

दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2020

आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं कि दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2020 या 67 वां दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2020 किसे प्रदान किया गया।

तो जैसा कि आपने देखा होगा कि पिछले कुछ वर्षों में जितने भी प्रतियोगी परीक्षाएं हो गए हैं उनमें अक्सर यहां से प्रश्न पूछे जाते हैं कि दादा साहब फाल्के पुरस्कार किसे प्रदान किया गया तो आज की इस पोस्ट में हम यही देखेंगे कि पिछले कुछ वर्षों में यह सम्मान किसे किसे दिया गया है ताकि आगामी सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में आपको मदद मिल सके।


दादा साहब फाल्के पुरस्कार से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी:- 
                  दादा साहब फाल्के पुरस्कार भारत के सरकार की तरफ से प्रत्येक वर्ष दिया जाने वाला एक पुरस्कार है, जो किसी व्यक्ति विशेष को भारतीय फिल्म (Indian Film) में उसके योगदान  (Contribution) के लिए दिया जाता है। 

प्रारंभ:-
यह पुरस्कार साल 1969 से दिए जा रहे है। साथ ही साथ इस पुरस्कार में वर्तमान में 10 लाख रुपये और स्वर्ण कमल दिये जाते हैं।

दादा साहब फाल्के पुरस्कार के अंतिम विजेता यानी दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2019 (66वां सम्मान) अमिताभ बचन जी को दिया गया था।

दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2020 (Dadasaheb Phalke Award 2020) :-
   जैसा कि हम बात कर रहे थे कि इस वर्ष का यह सम्मान किसे दिया गया है तो आपको बता दे की, दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2020 यानी 67वें पुरस्कार के विजेता के रूप में "केजंग डी थोंगडोक" को चुना गया है।

आपको बता दे की "केजंग डी थोंगडोक" को  इस पुरस्कार से उनके किस कार्य के लिए नवाजा गया है, शहद सीकर पर उनकी लघु वृत्तचित्र "ची ल्युपो" के लिए।

ये भी ध्यान रखें:- 
'ची ल्युपो' का अर्थ समझे तो "ची" का मतलब शहद और ल्युपो का अर्थ है शिकारी।


दादा साहब फाल्के पुरस्कार के पिछले 3 वर्षों के विजेता:-
65वें - 2018 - विनोद खन्ना
✓ 66वें - 2019 - अमिताभ बच्चन
✓ 67वें - 2020 - केजंग डी थोंगडोक


दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आप लोगों को हमारा यह प्रयास जरुर पसंद आया होगा अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो, तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।
Thank You. ! 

Post a Comment

0 Comments